यम हरिमुद्रा से दूर होगी कमजोरी – Health Benefit of Yam Harimudra Yoga

Spread the love

दोस्तों हम सभी जानते हैं कि हमारा शरीर अग्नि ,जल, वायु , हवा,पृथ्वी इन पांच तत्व से मिलकर बना है अगर यह सभी five elements हमारे Control में रहते हैं तो हमारा शरीर एकदम स्वस्थ रहता है। इन सभी तत्वों को Control में रखने के लिए सभी लोग योगासन जैसे कठिन परिश्रम करते हैं लेकिन वर्तमान मे लोगों के पास ज्यादा समय ना होने के कारण योगासन आदि Activities नहीं कर पाते हैं और उनका शरीर धीरे-धीरे अस्वस्थ होता चला जाता है।

लेकिन दोस्तों आज हम आपको एक ऐसे हस्त मुद्रा के बारे में बताएंगे जिसे जिन्हें आप आराम से कर सकते हैं और इसमें आपको कोई शारीरिक परिश्रम करने की जरूरत नहीं महसूस होगी। हस्त मुद्राएं अनेकों प्रकार की होती हैं लेकिन शरीर की कमजोरी को दूर करने के लिए यम हरिमुद्रा काफी महत्वपूर्ण होती है। यम हरि मुद्रा अन्य मुद्राओं की तुलना में काफी सरल और प्रभाव कारी होती है।

यम हरिमुद्रा को करने की विधि (Method of performing Yama Harimudra):

  • सबसे पहले अपने दोनों हाथों की सबसे छोटी उंगलियों यानी little finger को आपस में एक दूसरे के First knuckle से मिला दे।
  • उसके बाद दोनों हाथों के अंगूठे को भी आपस में मिला दे।
  • उसके बाद बची हुई दोनों हाथों की उंगलियों को अपनी हथेली की तरफ मोड़ कर।
  • अंगुलियों की इस position को ही यम हरिमुद्रा कहते हैं।
Also Read:   कैंसर और पथरी जैसी खतरनाक बिमारी को भी जड़ से मिटा सकता है बथुआ

इस मुद्रा की specialty यह है कि अपना effect जल्दी दिखाने लगती है इसलिए यम हरिमुद्रा को प्रतिदिन 10 मिनट जरूर करें और बाद में इसे प्रतिदिन 30 मिनट करें। यम हरिमुद्रा से होने वाले advantages के बारे में जानकर Surprised हो जाएंगे।

Video

तो चलिए आइए हम जानते हैं यम हरिमुद्रा करने से होने वाले फायदों के बारे में (so let us know about the benefits of performing Yama Harimudra);

  1. यम हरिमुद्रा हमारे शरीर की pulse मैं blood serculation को सही करता है । जो हमारे शरीर की कमजोरी को दूर करता है और हमारे शरीर को चुस्त-दुरुस्त बनाता है।
  2. इस मुद्रा को करने से स्त्रियों में होने वाली Diseases से छुटकारा मिलता है। यह मुद्रा करने से स्त्रियों में होने वाले Breast Cancer से भी बचा जा सकता है।
  3. यह मुद्रा हमारी body के metabolism को ठीक करता है और पांचन संबंधी सभी रोगों मैं आराम मिलता है।
  4. यम हरिमुद्रा के निरंतर अभ्यास से आपके पेट संबंधित सभी रोग जैसे Constipation, Loss of appetite, आदि ठीक हो जाएंगे।
  5. इस मुद्रा से जिगर की कमजोरी ऐसी समस्याएं आसानी से दूर होती है।
Also Read:   लौंग के चौकाने वाले 9 फायदे जानकर हैरान रह जाएंगे

यम हरिमुद्रा की Daily practice आपको गंभीर रोगों से बचा सकती है। साथ ही यम हरिमुद्रा अन्य मुद्राओं की तुलना में ज्यादा प्रभावशाली होती हैं। इसलिए यम हरिमुद्रा आपको healthy और long life दे सकती हैं।

दोस्तों अगर आपको हमारा लिखा हुआ आर्टिकल पसंद आया तो इसे ज्यादा से ज्यादा लाइक और शेयर जरूर करें!


Spread the love