बाएं ओर करवट लेकर सोने के ग़जब के फायदे

एक अच्छी नींद लेना हमारे स्वास्थ्य के लिए अत्यधिक आवश्यक है।  परंतु क्या आपको पता है कि बाईं ओर करवट लेकर सोने से हम अच्छी तरह सो पाते हैं , बल्कि यह हमारे स्वास्थ्य के लिए भी अत्यधिक आवश्यक है हमें बाईं ओर करवट लेकर सोने की आदत डालनी चाहिए।

इस से होने वाले फायदे जानकर आप आश्चर्यचकित रह जाएंगे ।आइए दोस्तों हम आपको बाईं ओर करवट लेकर सोने के फायदे के बारे में बताते हैं:-

01. दुरुस्त पाचनक्रिया

बाएं ओर करवट लेकर सोने से अग्नाशय अपना खाना पचाने का कार्य आराम से करने लगता है।  अग्नाशय से   एंजाइम सही समय पर निकलना शुरू होता है खाया गया भोजन भी आराम से पेट के जरिए नीचे पहुंच जाता है आराम से खाना हजम हो जाता है।

02. स्वस्थ लीवर

बाएं ओर करवट लेकर सोने से हमारे लीवर पर किसी प्रकार का दबाव नहीं पड़ता है इसलिए शरीर में जमा होने वाले टॉक्सिन धीरे-धीरे लसिका तंत्र द्वारा निकल जाते हैं।

03. पेट की समस्याओं से निजात

बाएं ओर करवट लेकर सोने से भोजन आराम से छोटी आतं  से बड़ी आतं  तक पहुंच जाता है इस वजह से हमारा हाजमा दुरुस्त रहता है । पेट की कई समस्याओं का समाधान जैसे पेट का फूलना पेट में गैस होना या     एसिडिटी की परेशानी सब समाप्त हो जाती हैं।

04. खर्राटों से निजात

बाई करवट सो कर आप खर्राटों से निजात पा सकते हैं | इसका कारण यह है कि यह आपकी जीभ और गले को न्यूट्रल पोजीशन में रखता है और वायु मार्ग को साफ रखता है जिससे आप सही  तरीके से सांस लेने में सक्षम हो पाते हैं | पीठ के बल सोने  से यह स्थिति और खराब हो सकती है।

05. अस्थमा में आराम

अस्थमा की शिकायत होने पर अक्सर डॉक्टर भी बाएं ओर करवट  लेकर  सोने  की सलाह देते हैं। श्वास का प्रवाह सही तरीके  से हो पाता  है।

06. गर्भावस्था में बाएं ओर करवट  लेकर  ही सोए

गर्भावस्था में डॉक्टर अक्सर स्त्रियों को बाएं ओर करवट  लेकर  सोने  की सलाह देती हैं | इससे रक्त  प्रवाह  सही  रहता  है | यह शिशु के स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा है। एडी,पैरों और हाथों में सूजन आने की आशंका भी कम रहती है।

07. एसिडिटी से आराम

बाएं ओर करवट  लेकर  सोने  से एसिडिटी नहीं होती है लीवर व किडनी  पर कोई दबाव नहीं पड़ता है। इसका असर होता है कि एसिड ऊपर की जगह नीचे की ओर को ही जाता है।

Also Read:   कैंसर और पथरी जैसी खतरनाक बिमारी को भी जड़ से मिटा सकता है बथुआ

08. कमर दर्द से आराम

बाएं ओर करवट  लेकर  सोने  से कमर दर्द व शरीर की रीढ की हड्डी के दर्द में भी आराम मिलता है। गर्भवती स्त्रियो को बायीं  और करवट लेकर पैरों  को मोडकर  बीच  में तकिया  रखकर सोना  चाहिये।

09. स्वस्थ हृदय

यह हम सभी जानते हैं कि हमारा हृदय हमाहरे शरीर के बायी  और होता है।  बाएं ओर करवट  लेकर  सोने  से हमारे हृदय पर भार भी कम पड़ता है।

दोस्तों बाईं करवट लेकर सोने से रक्त प्रवाह  सही रहता है तथा हाजमा दुरुस्त होता है और यदि आपको पाचनक्रिया से संबंधित कोई भी दिक्कत हो तो बाईं और करवट लेकर ही सोए फिर आप स्वयं इस से मिलने वाले फायदों का अनुभव करेंगे। अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो कृपया इसे शेयर करें।

Featured Image Source: Well Or Die
error: Content is protected !!