वास्तु मंत्र – यह दूर करेंगे वास्तु दोषों को (Vastu mantra- yeh door karenge vastu dosho ko)

Spread the love

आज हम आपको अपनी इस post में वास्तु मंत्र – यह दूर करेंगे वास्तु दोषों को इन topic पर discuss करने जा रहे हैं। और हम उम्मीद करते हैं कि आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आएगी। और आप इसको आगे share भी करेंगे।

वास्तु मंत्र – यह दूर करेंगे वास्तु दोषों को (Vastu mantra- yeh door karenge vastu dosho ko)

 

 

अक्सर ऐसा होता है कि जब भी आप घर बनवाते हैं तब जाने अनजाने में कुछ ऐसी mistakes हो जाती हैं जिसकी वजह से आपके घर पर negative प्रभाव बहुत ज्यादा पड़ जाता है। और बहुत बार ऐसा भी होता है कि घर में सात सजावट और घर में रखे बहुत से सामानों से वास्तु दोष उत्पन्न हो जाता है। और इसी का असर कम करने के लिए वास्तव में बहुत सारे उपाय बताए गए हैं और इनमें से एक है वास्तु मंत्र और इन मंत्रों की मदद से वास्तु को सही किया जा सकता है।

Also Read:   व्यवसाय और दुकान के लिए जान ले ये वास्तु टिप्स नहीं तो भुगतना पड़ सकता है भारी नुकसान, जानिए इस आर्टिकल में

नैऋत्य दिशा मंत्र (दक्षिण-पश्चिम)

नैऋत्य दिशा के स्वामी है राहु ग्रह और उसके देवता नैऋत है। और इस दोष को दूर करने के लिए राहु और नैऋत मंत्र को बहुत ही ज्यादा प्रभावी माना जाता है।

राहु मंत्र- ऊं रां राहवे नमः

नैऋत मंत्र- ऊं नैऋताय नमः

पश्चिम दिशा मंत्र

पश्चिम दिशा के स्वामी हैं ग्रह शनि और देवता है वरुण। और इस दिशा में आपके घर का किचन कभी नहीं बनाना चाहिए। और इस दिशा में अगर वास्तु दोष को दूर करना है तो शनि मंदिर को जपें।

शनि मंत्र- ऊं शं शनैश्चराय नमः

ईशान दिशा मंत्र (पूर्व-उत्तर)

इस दिशा के स्वामी है बृहस्पति और इस दिशा को देवता भगवान शिव ओ माना जाता है। इस दिशा के अशुभ प्रभावों को दूर करने के लिए यह मंत्र पढ़े।

Also Read:   वास्तु टिप्स – घर के मंदिर में जरुर रखे ये बाते ध्यान

मंत्र है: ऊं बृं बृहस्पतये नमः

पूर्व दिशा मंत्र

पूर्व दिशा के स्वामी है भगवान सूर्य और देवता है भगवान इंद्र। इस दिशा के वास्तु दोष को कम करने के लिए या दूर करने के लिए यह मंत्र पढ़ें।

मंत्र है: ह्रां ह्रीं ह्रौं सः सूर्याय नमः

आग्नेय दिशा मंत्र (दक्षिण-पूर्व)

आग्नेय दिशा के स्वामी है ग्रह शुक्र और देवता है अग्नि। इस दिशा में अगर वास्तु दोष है तो यह मंत्र पढ़े

शुभ मंत्र- ऊं शुं शुक्राय नमः

और अगर आप व्यापार में सफलता यासीन नौकरी में तरक्की पाना चाहते हैं तो अग्नि देव के मंत्र का वीजा करें।

अग्नि मंत्र- ऊं अग्नेय नमः

मैं उम्मीद करता हूं कि आपको कैसे वास्तु मंत्र – यह दूर करेंगे वास्तु दोषों को यह आर्टिकल काफी पसंद आया होगा कृपया इसको सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें यदि आप कुछ प्रश्न करना चाहते हैं तो कृपया हमें कमेंट बॉक्स पर या हमें फेसबुक पर मैसेज करके भी पूछ सकते हैं।

Also Read:   रसोई के लिये क्या है वास्तु टिप्स - Vastu Tips for Kitchen

Search terms – कैसे पता करें कि घर में वास्तु दोष है, वास्तु दोष और रोग, घर का वास्तु दोष, किचन का वास्तु दोष दूर करने के उपाय, वास्तु दोष के बारे में बताएं, वास्तु दोष निवारण मंत्र, घर में वास्तु दोष के लक्षण, बिना तोड़फोड़ वास्तु उपाय


Spread the love