दांत के दर्द के साथ शरीर के कई परेशानीयों में लाभदयक है हींग – हींग के 10 फायदे

Spread the love

हींग के 10 फायदे – हींग रसोई घर में इस्तेमाल किए जाने वाला एक लोकप्रिय मसाला है । जिसका प्रयोग दाल में छोंका लगाने के लिए और अन्य चीजों में होता है। इसके इस्तेमाल से पेट में बनने वाली गैस से राहत मिलती है। हींग का उत्पादन सबसे अधिक ईरान और अफगानिस्तान में होता है। भारत में यह कश्मीर और पंजाब में पाई जाती है l

हींग का पेड़ 6-8 फुट लंबा होता है, जो कि सौंफ के पेड़ की तरह ही दिखता है। एक पेड़ से लगभग 100 ग्राम से 300 ग्राम तक हींग प्राप्त होती है। हींग का स्वाद तीखा और थोड़ा कटु होता है। हींग दो प्रकार की होती है:- पहली काबुली सुफाइद (दुधिया सफ़ेद हींग) और दूसरी लाल हींग होती है।

हींग से होने वाले फायदे

हींग

वैसे तो हींग ज्यादातर चीजों के लिए फायदेमंद साबित होती है। लेकिन इसका अधिक सेवन कभी-कभी हमारी सेहत पर नकारात्मक प्रभाव छोड़ जाता है। इसलिए हींग जितनी फायदेमंद है उतनी ही नुकसानदायक भी।

Also Read:   ये चीजे बन सकती है दिल की बीमारी का कारण -These things can cause heart disease

हींग से होने वाले 10 फायदे (10 Benifits of Asafoetida) :-

(1) पाचन क्रिया में सहायक (Helps in digestion) –

हींग पेट के लिए बहुत लाभकारी होती है। इसके इस्तेमाल से पेट की गैस, पेट के कीड़े, पेट का फूलना जैसे रोगों से छुटकारा मिलता है।

(2) दर्द (Pain) –

हींग किसी भी प्रकार के दर्द के लिए उपयोगी है। महिलाओं के महावारी में होने वाले दर्द, दांत-दर्द, सिर दर्द इत्यादि के लिए भी बहुत ही फायदेमंद है।

(3) कफ (Phine) –

हींग छाती में बनने वाले कफ को निकालने में सहायता करता है।

(4) जलने पर लाभदायक (Useful on burning)-

हींग को पानी में घोलकर जले हुए स्थान पर लगाने से जलन में फायदा होता है और फफोला पढ़ने से बचाता है।

(5) शुगर ( Diabetes) –

हींग डायबिटीज के लिए भी बहुत लाभदायक होती है। इसके तत्व खून से शक्कर की मात्रा को कम करने में मदद करते हैं।

(6) हृदय रोग (Heart desease) –

हींग रक्त से कोलेस्ट्रॉल तथा ट्राइ ग्लिसराइड को कम करती है, जिससे हृदय रोग होने का खतरा कम हो जाता है।

Also Read:   तीन आसान एक्सरसाइज और आपका हाई कोलेस्ट्रॉल छू मंतर - Cholesterol kaise kam kare

(7) अचार के खराब होने से बचाव के लिए (To prevent pickle failure) –

हींग का प्रयोग अचार में करने से इसका स्वाद तो बढ़ता ही है। साथ ही हींग के इस्तेमाल से अचार को खराब होने से भी बचाया जा सकता है।

(8) हिचकी के लिए फायदेमंद (Beneficial for Hiccups) –

हिचकी को दूर करने के लिए हींग को पुराने गुड़ में मिलाकर प्रयोग में लाया जाता है।

(9) कीड़े मकोड़े के काटने पर (On the bite of the worms) –

यदि कोई कीड़ा या मकड़ी काट ले या डंक मार दे तो पके हुए केले के साथ चुटकी भर हींग निगलने से दर्द तथा सूजन दोनों में आराम मिलता है।

(10) फोड़ा फुंसी के लिए फायदेमंद (Beneficial for abscess pimples) –

अगर आप फोड़े, फुंसी, मुंहासे आदि से छुटकारा पाना चाहते हैं तो हींग को नीम की पत्ती के साथ पीसकर लगाएं। इसके अलावा यह दाद को भी मिटाता है।

हींग के नुकसान (Disadvantages of Asafoetida)-

(1) हींग की तासीर गर्म होती है। इसलिए अगर किसी व्यक्ति के पेट में जलन या रक्तस्नाव की समस्या हो तो उसे हींग का प्रयोग नहीं करना चाहिए। इसके अलावा पित्त प्रकृति वाले व्यक्ति को भी इसका इस्तेमाल सावधानी से करना चाहिए।

Also Read:   पेट में बार बार गैस बनती है, डकार आती है तो इस नुस्खे को तुरंत आजमा लो |

(2) अगर किसी व्यक्ति को एसिडिटी या पेट में अल्सर हो तो उसे हींग का सेवन नहीं करना चाहिए।

(3) हींग ब्लडप्रेशर को भी बहुत प्रभावित करती है। इसलिए अगर किसी व्यक्ति को हाई या लो ब्लड प्रेशर की समस्या हो तो उसे हींग से परहेज करना चाहिए।

(4) हींग 5 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए नुकसानदायक होती है। इसलिए स्तनपान कराने वाली मां को हींग का प्रयोग नहीं करना चाहिए।

उम्मीद करती हूं हींग से संबंधित यह पोस्ट आपको पसंद आई होगी। अगर मेरी आज की यह पोस्ट आपको अच्छी लगी हो तो इसे सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें। और अगर अभी भी आपके मन में कोई सवाल है तो आप कमेंट बॉक्स या फेसबुक मैसेज द्वारा हम से पूछ सकते हैं। धन्यवाद!


Spread the love