इन आदतों के कारण हो रहा हैं ब्रेन डैमेज

Spread the love

आजकल हर कोई लगभग सट्रेसफुल लाइफ जी रहा है। अच्छे लाइफ पार्टनर की तलाश इन सबका प्रेसर हमारा ब्रेन उठा रहा हॆ. रेगुलर जिम एक्सरसाइज़ और योग करके हमारी बॉडी तो फिट हो जाती है एक सवाल ये भी उठ खड़ा होता कि क्या ब्रेन को भी फिट एंड फाइन रखने के लिए हम इतना सब कुछ करते है? डेली रुटीन में भी ऐसी की सारी चीजे है, जिनसे ब्रेन डैमेज हो रहा है। आइए जानते उन बातों के बारे में जिसे अवॉयड करके हम ब्रेन डैमेज को रोक सकते है।

सर ढंककर सोना  – Sleeping with cover Head

सर्दियों में लोग अक्सर सर ढंककर सोते है, लेकिन क्या आपको पता है, ये आदत आपका ब्रेन डैमेज कर सकती है, सर ढंककर सोने से जरुरी मात्रा में ऑक्सीजन ब्रेन को नही मिल पाता और कार्बन डाई ऑक्साइड की मात्रा लगातार बढ़ती जाती है। इससे ब्रेन के काम करने की क्षमता कम होती है।

Also Read:   दांतों में लगे हुए कीड़े और गंदगी से मिनटों में छुटकारा पाएं। How To Get Rid Of Cavities In Hindi

ओवरइटिंग  – Overeating

अक्सर जरुरत से ज्यादा खाना खाना सेहत के लिए नुकसानदायक साबित होता है, ओवरइटिंग की बजह से ब्रेन पर असर पड़ता है जिससे बॉडी में इंसुल्न का प्रोडक्शन बढ़ जाता है। इंसुलिन सिर्फ मोटापा और डायबटीज बड़ाने में नही बल्कि आर्टरीज की हार्डनेस के लिए जिम्मेदार होता है जिससे उम्र बड़ने के साथ दिमाग पर भी असर दिखाई देने लगता है.

कम सोना  – Sleep less

अक्सर लोग अपनी पूरी नींद नही लेते, देर रात तक चैटिंग, मूवी और देर सात खाना खाने की आदत भी ब्रेन को डैमेज करने वाली है। सात ही परीक्षा के दौरान देर रात तक जगकर पढ़ना भी ब्रेन को डैमेज कर सकता है। क्येंकि इससे ब्पेन सेल्स कमजोर होने लगते है, और अंत में काम करना बंद कर देते है।

Also Read:   How to charcoal mask cream-पहली बार चारकोल कैसे लगायें

कम पानी पीना – Dehydration

ब्रेन में लगभग 73 प्रतिशत पानी होता है। से में ज्यादा देर बैठने और पानी न पानी के कारण बॉडी के सेल्स धीरे-धीरे सिकुड़ने लगते हैं और पानी की इस कमी पूरा करने के लिए वो ब्रेन से पानी की मात्रा ले लेते है। जिससे ब्रेन की काम करने की क्षमता पर असर पड़ता है।

Also Read:   कुछ आदतें जिनको अपनाने से आसानी से पेट की चर्बी को कम कर सकते है

तनाव  – Stress

ज्यादातर लोग इस बात से वाकिफ होगें कि स्ट्रेस का सीधा संबधं ब्रेन से जुड़ा हुआ है। ज्यादा तनाव लेने से किडनी एक कारटिसोल नाम का एक केमिकल निकलता है जो ब्रेन के सेल्स को डैमेज करता है। इसलिए किसी तरह के प्रेजेंटेशन, एग्ज़ाम, ज़ब इंटरव्यू से पहले य्ट्रेस न लेने की सलाह दी जाती है।


Spread the love