लोहड़ी स्पेशल रेवड़ी घर पे बनाने का आसान तरीका | Til Rewari Recipe | Lohri kab hai 2023

Spread the love

हमारे भारत देश में पवित्र त्योहार लोहड़ी आने वाला है जो की बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है | दुनिया के कोने कोने में लोहड़ी का त्यौहार जनवरी के महीने में पूरे हर्षोल्लास के साथ अपने परिवार सगे संबंधियों के साथ लोग मनाते हैं |

Lohri kab hai 2023- लोरी कितने तारीख को है? – 14 जनवरी को लोहड़ी की पूजा का शुभ मुहूर्त रात 8 बजकर 57 मिनट पर है।

इसी लोहड़ी पर्व पर तरह तरह के पकवान ही बनाए जाते हैं उन्हीं पकवानों में एक पकवान है लोहरी स्पेशल रेवड़ी

रेवड़ी जितनी देखने में अच्छी लगती है उतनी ही खाने में अच्छी लगती है बाजार से मिलने वाली रेवड़ी की बात करें तो उन्हें बनाने के लिए इतनी शुद्धता का ध्यान नहीं रखा जाता और मिलावटी घी और गुड़ के साथ तैयार की जाती हैं |

जो कि कभी कभी खाने में इतनी स्वादिष्ट नहीं लग पाती | आज हम आपके लिए लेकर आए हैं लोहड़ी की स्पेशल रेवड़ी जो कि आप घर पर ही बना सकते हैं |

Also Read:   इस बारिश मे,4आलू से एसी मजेदार रेसिपी देख्ने के बाद आप सुबह से रात तक यही खाना चाहे

भारत किचन हिंदी यूट्यूब चैनल के माध्यम से हम आपके लिए गुड और तिल के द्वारा बनाने वाली रेवड़ी आपके सामने लेकर आए हैं जिसको आप बहुत ही जल्दी तैयार कर सकती हैं |

रेवड़ी खाने के बहुत सारे फायदे होते हैं जैसे कि –

  1. तिल्ली के रेवड़ी कब्ज, गैस और एसिडटी को खत्म करते हैं और पेट साफ करने में भी काफी मददगार होते हैं।
  2. ठंड के मौसम में खाने पर तिल्ली के रेवड़ी सर्दी के दुष्प्रभावों से बचाते हैं | भूख बढ़ाने के लिए भी यह असरकारक है।
  3.  न केवल यह दर्द में आराम दिलाते हैं, बल्कि मासिक धर्म को भी निर्बाध करता है|
  4. यह पाचन में मदद करता है और शरीर में खून की मात्रा बढ़ाने में भी काफी महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है।
  5. तनाव को कम करने के लिए तिल्ली के रेवड़ी का सेवन किया जा सकता है क्योंकि यह तिल और गुड़ का सेवन मानसिक दुर्बलता को कम करने में मददगार होता है।
Also Read:   खिचङी तो बहुत खाई होगी पर ऐसी हैल्दी और टेस्टी खिचङी कभी नही खायी होगी

तो दोस्तों लोहड़ी कुछ ही दिनों में आने वाली है और पूरे परिवार के साथ लोहड़ी का पर्व मनाए और रेवड़ी की तैयारी पहले से ही कर ले |

तो चलिए दोस्तों देखते हैं गुड और तिल से तैयार रेवड़ी कैसे बनाई जाए –

Hamaare Bhaarat Desh Mein Pavitr Tyohaar Lohri Aane Vaala Hai Jo Ki Bahut Hee Dhoomadhaam Se Manaaya Jaata Hai | Duniya Ke Kone Kone Mein Lohri Ka Tyauhaar Janavaree Ke Maheene Mein Poore Harshollaas Ke Saath Apane Parivaar Sage Sambandhiyon Ke Saath Log Manaate Hain |

Lohri Kab Hai 2023- Lohri kitne tarikh ko hai? – 14 january Ko Lohri Ki Pooja Ka Shubh Muhoort Raat 8:57 minute Par Hai.

Isee Lohri Parv Par Tarah Tarah Ke Pakavaan Hee Banae Jaate Hain Unheen Pakavaanon Mein Ek Pakavaan Hai Loharee Speshal Revadee

Revadee Jitanee Dekhane Mein Achchhee Lagatee Hai Utanee Hee Khaane Mein Achchhee Lagatee Hai Baajaar Se Milane Vaalee Revadee Ki Baat Karen To Unhen Banaane Ke Lie Itanee Shuddhata Ka Dhyaan Nahin Rakha Jaata Aur Milaavatee Ghee Aur Gud Ke Saath Taiyaar Ki Jaatee Hain |

Also Read:   चैत्र नवरात्रि 2023 के अष्टमी दिन बहुत खास होगा, क्योंकि 700 साल बाद बनेंगे इस दिन कुछ ऐसे योग

Jo Ki Kabhee Kabhee Khaane Mein Itanee Svaadisht Nahin Lag Paatee | Aaj Ham Aapake Lie Lekar Aae Hain Lohri Ki Speshal Revadee Jo Ki Aap Ghar Par Hee Bana Sakate Hain


Spread the love