पित्त की थेली की पत्थरी निकालने का अचूक उपाय – गाल ब्लैडर स्टोन

पथरी की समस्या पित्त की थैली में  कैलेस्ट्रोल के जमने के कारण हो जाती है | जब पित्त की थैली में पथरी बढ़ती है तो उस समय पेट में बहुत तेजी से दर्द होता है और कई बार उल्टी भी आती है | रोगी को खाना पचने में दिक्कत होती है , पाचन क्रिया खराब हो जाती है और भी कई सारी समस्या होने लगती हैं |

कई बार लोग डॉक्टर से इलाज कराते हैं और हजारों ,लाखों रुपए खर्च करने के बाद भी अपने दर्द और समस्या से उनको समाधान नहीं मिलता |

आज हम आपके लिए लाए हैं ऐसे कुछ अचूक घरेलू उपचार जिनका आप प्रयोग करके पित्त की थैली की पथरी को हमेशा के लिए दूर कर सकते हैं |  आइए जानते हैं ऐसे ही घरेलू उपाय के बारे में:

01. सेव का जूस और सेब का सिरका: 

दोस्तों सेब में पित्त की पथरी को गलाने की छमता होती है लेकिन इसे जूस के रूप में सेव के सिरके के साथ लेने पर ही इसका फायदा मिलेगा |  सेब में मौजूद मैलिक एसिड पथरी को गलाने में मदद करती है तथा सेब का सिरका लिवर में कोलेस्ट्रॉल नहीं बनने देता |  पथरी की वजह से जो  लोग परेशान हैं मैं उन्हें यह सलाह देना चाहता हूं कि आप सेब का जूस और सेब का सिरका देना शुरु कर दें |

  • किस तरह से सेवन करना है :

एक गिलास सेब के जूस में एक चम्मच सेवर सरकार मिलाएं और इस जूस को रोजाना एक दिन में कम से कम 2 बार पिए

02. नाशपाती का जूस: 

आपने देखा होगा जो नाशपाती का जो आकार होता है वह बिल्कुल पित्त की थैली की तरह से मिलता जुलता होता है तो नाशपाती में मौजूद पेक्टिन कोलेस्ट्रॉल को बनने और जमने से रोकता है | ऐसे तो नाशपाती खाने के कई सारे फायदे होते हैं लेकिन अगर आप इस को नियमित रुप से सेवन करेंगे तो आपको काफी लाभ मिलेंगे |

  • किस तरह से सेवन करना है :

एक गिलास गर्म पानी में आप एक गिलास नाशपाती का जूस ले लीजिए जिस में 2 चम्मच शहद मिला लीजिए और इसको कम से कम 1 दिन में तीन बार कीजिए आपको पित्त की पथरी से निजात मिलेगा

03. चुकंदर खीरा और गाजर का जूस

दोस्तों जूस थेरेपी को पित्त की थैली के इलाज के लिए घरेलू उपचार में सबसे ज्यादा फायदेमंद बताया जाता है | चुकंदर ना केवल शरीर को मजबूती देता है बल्कि इसके साथ साथ आपके गाल ब्लेडर को भी साफ करता है | लीवर के कोलोन को भी साफ करता है | अगर हम बात करें खीरे की तो उसमें मौजूद ज्यादा पानी की मात्रा लिवर और गाल ब्लैडर दोनों को डिटॉक्सफाई करती है | गाजर कि बात करें इसमें विटामिन सी होती है जिसमें उच्च पोषक तत्व के गुण होते हैं |

  • किस तरह से सेवन करना है :
Also Read:   लाखों केंसर पीड़ित ने अजमाया ये गले के कैंसर का रामबाण और अचूक नुस्खा

एक चुकंदर, एक खीरा, 4 गाजर को लेकर इस का जूस तैयार करिए , इस जूस को प्रतिदिन दो बार पीना है|   प्रत्येक मात्रा में सामग्री बराबर होनी चाहिए इसलिए सब्जियां फल के साइज के हिसाब से मात्रा घटा या बढ़ाई जा सकती है | अगर अब इसका नियमित रूप से सेवन करेंगे तो आपको गाल ब्लैडर की पथरी से समस्या से छुटकारा मिलेगा|

04. पुदीना

पुदीना पाचन के हिसाब से सबसे अच्छी घरेलू औषधि मानी जाती है और यह आपके पित्त वाहिका पाचन से संबंधित अन्य रसों को भी बढाती है आप पुदीने की चटनी बना सकते हैं या फिर पुदीने की पत्तियों की बनी चाय   पी सकते हैं |

  • किस तरह से सेवन करना है :

पानी को गर्म करिए इस में आप कुछ पुदीने की पत्तियां डाल सकते हैं उसको उवालिए जब तक यह हल्का हल्का गुनगुना रहे | इसको छान लीजिए और शहद मिलाकर इसका सेवन कीजिए |आप इसे मिश्रण को चाय की तरह भी सकते हैं | आपको पथरी के समस्या से हमेशा के लिए छुटकारा मिलेगा |

05. खानपान में कुछ बदलाव

खानपान में कुछ बदलावकरने हैं जैसे:

  • कम से कम 10 से 12 गिलास पानी पीना है आपको प्यास नहीं है फिर भी आप पानी पीजिए
  • जंक फूड और तेज मसाले वाले खाने आपको नहीं खाने हैं
  • अपने खाने में विटामिन सी की मात्रा बढाएं। दिनभर में जितना ज्यादा संभव हो विटामिन सी से भरपूर चीजें खाएं।
  • हल्दी, सौंठ, काली मिर्च और हींग को खाने में जरूर शामिल करें।

यदि आपको आर्टिकल अच्छा लगा तो कृपया इसे फेसबुक पर शेयर करें | आपका एक शेयर कई लोगों की जिंदगी बचा सकता है |

error: Content is protected !!