हार्ट अटैक से बचने के 12 तरीके, जरुर पढ़ें और शेयर करें

Spread the love

हार्ट अटैक दिल का दौरा इसलिए पड़ता है जब दिल तक खून पहुंचाने वाली किसी एक या एक से अधिक धमनियों में जमी वसा के थक्के के कारण रुकावट आ जाती है थक्के के कारण खून का प्रवाह अवरुद्ध हो जाता है खून नहीं पहुंचने से दिल की मांसपेशियों में ऑक्सीजन की कमी हो जाती है | यदि जल्दी खून का प्रवाह ठीक ना किया जाए तो दिल की मांसपेशियों की गति रुक जाती है | अधिकांश दिल के दौरे के कारण मौत थक्के के फट जाने से ही होती हैं ।

हार्ट अटैक के मामलों में 25% साइलेंट हार्ट अटैक के होते हैं साइलेंट हार्ट अटैक का पता लगाना मुश्किल होता है इसका पता नहीं लग पाता है यह बहुत ही खतरनाक स्थिति होती है ।

बदलती जीवनशैली में जहां मधुमेह BP जैसी रोग होना आम बात हो गया है वही हार्ट अटैक की समस्या भी अब आम होती जा रही है.

आइए दोस्तों आपको हार्ट अटैक आने पर होने वाले लक्षण के बारे में बताते हैं-

-पसीना आना
-सांस फूलना
-छाती में दर्द होना
-सीने में ऐठन होना
-हाथों कंधों कमर में जबड़े में दर्द होना
-मितली व उल्टियां आना
-सामान्य रूप से थक जाना

Also Read:   आयुर्वेदिक घरेलू नुस्खों से करें पेचिश का इलाज 

यदि यह लक्षण स्पष्ट दिखाई दे तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें हार्ट पेशेंट को लंबी सांस लेने के लिए कहें आसपास हवा आने की जगह छोड़ दे ना कि उसे घेर कर खड़े हो ताकि पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन मिल सके हार्ट अटैक आने पर यदि उल्टी की फीलिंग हो तो उल्टी करने दे हार्ट अटैक के समय मरीज को कुछ खिलाने या पिलाने की गलती कभी ना करें ।

एलोपैथिक उपचार के लिए डॉक्टर ए़ंजिओप्लास्टी करते हैं जिसमें ऑपरेशन करके खराब ब्लड बेसिल की मरम्मत की जाती है या बंद कोरोनरी आटरी को खोला जाता है दिल संबंधित समस्याओं के लिए हार्ट बाईपास सर्जरी कराई जाती है ।

आइए दोस्तों आपको कुछ ऐसे तरीको के बारे में बताते हैं जिनका प्रयोग करके आप हर्टअटैक से बच सकते हैं जैसे –

१-प्रतिदिन व्यायाम कीजिए सुबह शाम सैर पर जाएं जोगिंग कीजिए योग व ध्यान का सहारा भी ले सकते हैं

Also Read:   सफेद दाग ठीक करने के घरेलू उपाय, जरुर पढ़ें और शेयर करें

२-आजकल बिकने वाले जंक फूड का सेवन बिल्कुल ना करें जंक फूड में बहुत ज्यादा ऑयल यूज किया जाता है व इसे बनाने के लिए प्रयोग में लाई जाने वाली चीजें आपके स्वास्थ्य के लिए अत्यधिक हानिकारक होती है ।

३-यदि आपका वजन अधिक है तो इसे कम कीजिए क्योंकि ज्यादा वजन होने का सीधा असर आपके हृदय पर पड़ता है आप अपने आहार को बदलकर या फिर योग व प्राणायाम करके भी अपने वजन को कम कर सकते हैं ।

४-समय-समय पर अपने हाई ब्लड प्रेशर को चैक कराते रहे हाई ब्लड प्रेशर ही हार्ट अटैक का मुख्य कारण माना गया है ।

५-सबसे बड़ी बात है दोस्तों की तनावमुक्त रहे 8 घंटे की नींद पूरी लें ।

६-यदि आपका कोलेस्ट्रॉल बढ़ा हुआ है तो अपने कोलेस्ट्रॉल को कम कीजिए |

Also Read:   आखिर सतीश कौशिक को हार्ट अटैक क्यों हुआ? जानिए हार्ट अटैक से पहले क्या संकेत मिलते हैं?

७-फाइबर एंटीऑक्सीडेंट युक्त आहार लीजिए |

८-सप्ताह में एक बार मछली जरूर खाएं |

९-सुबह खाली पेट लोकी के रस का सेवन करना चाहिए आप चाहे तो तुलसी के पत्तों के रस में लौकी के रस को मिलाकर भी सेवन कर सकते हैं यह अत्यधिक गुणकारी होता है |

१०-अर्जुन की छाल का सेवन करें अर्जुन की छाल को पानी में पकाकर इसकी चाय बनाकर इसका सेवन करना चाहिए |

११-खाने में अलसी के तेल का प्रयोग अधिक करना चाहिए |

१२-दिन भर में एक चम्मच शहद का सेवन अवश्य करें  |

दोस्तों यदि आप अपनी स्वस्थ दिनचर्या रखते हैं तभी आप एक स्वस्थ शरीर पा सकते हैं | अगर आपको हमारा यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो कृपया इसे अधिक से अधिक शेयर कीजिए |


Spread the love