कोरोनावायरस के इलाज के लिए आई दवाई, 103 रुपये की है ये गोली

Spread the love

मुंबई की कंपनी ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स ने कोविड-19 से मामूली रूप से पीड़ित मरीजों के इलाज के लिए एक दवा बनाई है। यह एक तरह की एंटीवायरल दवा है। इस एंटीवायरस दवा फेवि पिराविर को फैबि फ्लू ब्रांड नाम से पेश किया है।

कंपनी ने शनिवार को यह जानकारी दी। इस कंपनी ने शुक्रवार को कहा था कि उसे भारतीय औषधि महानियंत्रक से इस दवा के निर्माण और मार्केटिंग की अनुमति मिल गई। कंपनी ने कहा कि फैबिफ्लू कोविड-19 के इलाज के लिए फेविपिराविर दवा है, जिसे मंजूरी मिली है। ग्लेमार्क फार्मास्युटिल्स के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक ग्लेन सल्दान्हा ने कहा, ‘यह मंजूरी ऐसे समय मिली है जबकि भारत में कोरोना वायरस के मामले पहले की तुलना में अधिक तेजी से बढ़ रहे हैं।

इससे हमारी स्वास्थ्य सेवा प्रणाली काफी दबाव में है।’ उन्होंने उम्मीद जताई कि फैबिफ्लू दवा जैसे प्रभावी इलाज की उपलब्धता से इस दबाव को काफी हद तक कम करने में मदद मिलेगी। सल्दान्हा ने कहा कि क्लिनिकल परीक्षणों में फैबिफ्लू ने कोरोना वायरस के हल्के संक्रमण से पीड़ित मरीजों पर काफी अच्छे नतीजे दिखाए। इसके अलावा यह खाने वाली दवा है जो इलाज का एक सुविधाजनक विकल्प है।

Also Read:   Patanjali ने बना ली है कोरोनावायरस की दवा, 5-14 दिन में ठीक हो रहे मरीज

उन्होंने कहा कि कंपनी सरकार और चिकित्सा समुदाय के साथ मिलकर काम करेगी ताकि देशभर में मरीजों को यह दवा आसानी से उपलब्ध हो सके। यह दवा चिकित्सक की सलाह पर 103 रुपये प्रति टैबलेट के दाम पर मिलेगी।

Source – NBT


Spread the love