सर्दियों में हेल्दी रहना है तो सिंघाड़े (Singhade) खाएं

दोस्तों सिंघाड़े (Singhade) का फल सितंबर से लेकर अक्टूबर व नवंबर महीने तक उपलब्ध होता है क्योंकि इसकी बेल को पानी में उगाया जाता है अतः यह पानी में उगने वाला फल माना जाता है । इसकी बेल को तालाब नदियों व नेहरों  में फैलाया जाता है व जब इन पर फल आ जाते हैं तब इन्हे तोड़ कर अलग कर लिया जाता है । 

यह सर्दियों में मिलने वाला फल है परंतु सिंघाड़े के बीजों को पीसकर जो आटा बनाया जाता है उसका उपयोग 12 महीने किया जाता है सिंघाड़े के आटे का प्रयोग अक्सर व्रत में खाने के लिए किया जाता है परंतु दोस्तों हम यह नहीं जानते कि सिंघाड़े का आटा अत्यधिक लाभकारी  हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही आवश्यक होता है खास तौर पर सर्दियों में यदि हम इसका सेवन करते हैं तो यह हमारे लिए बहुत ही लाभकारी सिद्ध होता है ।

Singhade ke fayde

सिंघाड़े में विटामिन ए ,सिट्रिक एसिड ,फॉसफोरस ,प्रोटीन ,विटामिन सी ,थायमिन ,मैंगनीज ,कार्बोहाइड्रेट ,कैल्शियम ,आयरन ,पोटेशियम ,सोडियम ,आयोडीन ,मैग्नीशियम आदि गुण भरपूर होते हैं ।

इतने गुणों से भरपूर सिंघाड़े का सेवन यदि हम करते हैं तो यह हमारे शरीर को कई प्रकार के रोगों से बचाए रखने का कार्य करता है ।

दोस्तों आइए आपको सिंघाड़े के सेवन से होने वाले कुछ लाभों से अवगत कराते हैं :-

गर्भवती स्त्रियों के लिए –   For Pregnent Women

सिंघाड़े का सेवन गर्भवती स्त्रियों के लिए बहुत अधिक आवश्यक माना जाता है ऐसा माना जाता है कि गर्भवती स्त्री को सिंघाड़ा अवश्य खाने के लिए देना चाहिए यह उसके गर्भ में पल रहे शिशु के लिए अत्यंत लाभकारी होता है साथ ही यदि किसी स्त्री को बार बार गर्भ गिरने जैसी समस्या होती है तो भी उसे नियमित तौर पर सिंघाड़े को घी में भूनकर सेवन करना चाहिए इसके सेवन से मिसकैरेज जैसी समस्या से निजात मिलती है ।

Also Read:   10 Grams A Day Of These Snacks Can Save Your Life

गले से जुड़ी समस्याएं – Throat Problem 

सिंघाड़ा एंटी-ऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होता है सिंघाड़े के सेवन से गले से जुड़ी समस्याएं जैसे गले में खराश होना गले का बैठना वह गले में टॉन्सिल आदी हो जाना से निजात मिलती है ।

थायराइड – Thyroid 

दोस्तों आपको जानकर हैरानी होगी कि सिंगाड़े के सेवन से थायराइड जैसी समस्या में भी लाभ मिलता है यदि आप थायराइड जैसी समस्या से ग्रसित हैं अथवा आपके परिवार में थायराइड की बीमारी की आनुवंशिकता है तो सिंघाड़े का सेवन अवश्य कीजिए यह थायराइड की बीमारी से लड़ने में अत्यधिक लाभकारी सिद्ध होता है ।

गैस अपच बदहजमी – Acidity Related Issues 

सिंघाड़े के सेवन से कभी भी गैस अपच बदहजमी जैसी समस्याएं उत्पन्न नहीं होती है अतः यह आपके गुड डाइजेशन के लिए भी अत्यधिक लाभकारी होता है

पीलिया – Piliya

पीलिया के मरीज को अक्सर कच्चा सिंघाड़ा या फिर सिंघाड़े का जूस पीने की सलाह दी जाती है क्योंकि इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्व पीलिया के रोगियों के लिए अत्यधिक लाभकारी होते हैं व पीलिया के रोगी को सिंघाड़े के सेवन से आराम मिलता है ।

स्वस्थ बाल – Healthy Hairs

यदि आप नियमित तौर पर सिंघाड़े का सेवन करते हैं तो इसका प्रभाव आप अपने स्वस्थ बालों पर देख पाएंगे इसके सेवन से बालों को जड़ों से मजबूती मिलती है व बालों में शाइन आ जाती है ।

त्वचा – Skin Care

पानी से भरपूर सिंघाड़ा यदि आप प्रतिदिन इसका सेवन करते हैं तो आपके त्वचा में नई प्रकार की चमक आने लग जाती है सिंघाड़े के सेवन से त्वचा में होने वाले कई प्रकार के रोग जैसे मुहासे दाने आदि निकलना से भी लाभ मिलता है ।

Also Read:   अदरक के 10 फायदे - अदरक के चमत्कारी औषधीय गुण - Health Benefits of Ginger in Hindi

शरीर में ऊर्जा – Energy Boost

सिंघाड़े के सेवन से शरीर में ऊर्जा का संचार होता है यदि आप कमजोरी महसूस करते हैं तो सिंघाड़े का सेवन अवश्य कीजिए यह आपको ऊर्जावान बनाए रखने का कार्य भी बखूबी करता है ।

तो दोस्तों देखा आपने किस प्रकार सिंघाड़ा इतने गुणों से भरपूर होता है और हमारे शरीर के लिए भी कितना लाभकारी साबित हो सकता है अतः सिंघाड़े का सेवन अवश्य ही कीजिए

यदि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया हो तो कृपया इसे अधिक से अधिक शेयर कीजिए |

Also Read-

All the tips on this website are strictly informational. This site doesn't provide any type of medical advice. Please Consult with your doctor or other health care provider before using any remedies or health tips.
Protected by Copyscape
error: Content is protected !!